Thursday, 01 October 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  1932 view   Add Comment

गर्भस्थ शिशु हत्या भारतीय संस्कृति के विरूद्ध - तिवाड़ी

भू्रण-हत्या केन्द्रित फिल्म छात्राओं को दिखाई गई

गर्भस्थ शिशु की हत्या भारतीय संस्कृति के विरूद्ध हैं जो सम्पूर्ण मानवता के लिए एक बड़ा कलंक हैं। भविष्य की सुरक्षा के लिए वर्तमान के प्रतीक गर्भस्थ शिशु का संरक्षण अत्यावश्यक हैं। उक्त उद्गार महाविद्यालय सभागार में गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी ने छात्राओं के सम्मुख व्यक्त किए। इस अवसर पर इन्द्रचन्द्र मोदी सह प्रदेश मंत्री, लक्ष्मीनारायण मोदी उपाध्यक्ष महानगर, बीकानेर सहित सुरेश  संतोष शर्मा तथा मधुरिमा इत्यादि कार्यक्रम में उपस्थित थे। इस अवसर पर योगेन्द्र भाटी ने भी अपने विचार छात्राओं के सम्मुख रखे।  कार्यक्रम के अगले चरण में भू्रण-हत्या केन्द्रित फिल्म छात्राओं को दिखाई गई जिसमें भू्रण हत्या को एक जघन्य मानवीय अपराध बताते हुए नारी कर्तव्य का स्मरण छात्राओं को करवाया गया। वैश्विक भयावह समस्या भू्रण हत्या मानवता के लिए कलंक हैं। यह एहसास छात्राओं को करवाया। इसी क्रम में योगेन्द्र भाटी अध्यक्ष महानगर बीकानेर ने छात्राओं को भू्रण हत्या न करने का संकल्प-पत्र भरवाया  कार्यक्रम के अंतिम चरण में कार्यक्रम संचालिका प्रवक्ता डॉ. चित्रा पंचारिया ने इस अवसर पर छात्राओं से कहा कि अपने जीवन में इस यथार्थ को समझकर हमें अपने वास्तविक कर्तय को पूर्ण करना चाहिए।

Tag

Share this news

Post your comment