Monday, 26 August 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2136 view   Add Comment

ब्राह्मण जाति नहीं विचारधारा : शर्मा

.

ब्राह्मण जाति नहीं विचारधारा : शर्मा

सूरत। विप्र फाउण्डेशन (विफा) के 10 संकल्पों को लखनऊ के मेयर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा. दिनेश शर्मा सहित हजारों विप्रजनों ने आत्मसात किया। विप्र कलश की विशाल संकल्प यात्रा के साथ यहां प्रमुख नरसी मेहता मैदान में ब्रह्मधाम आसोतरा के महंत संत श्री तुलछारामजी महाराज के कर कमलों से स्थापना-आशीर्वाद और विभिन्न सांस्कृतिक प्र्रस्तुतियों ने हजारों विप्रजनों के उत्साह को दुगुना कर दिया। मौका था रविवार सांय यहां गाडोदरा स्थित प्रमुख अरेण्य रेजीडेंसी में पंचम विप्र महाकुंभ का।

डा. शर्मा के मुख्य आतिथ्य में पूर्व न्यायाधीश रवि त्रिपाठी, गुजरात विधानसभा अध्यक्ष गणपति वसावा, सूरत के सांसद सी.आर.पाटिल, सांसद दर्शना जरदौस, राजस्थान के सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री अरुण चतुर्वेदी, वनमंत्री राजकुमार रिणवा, जयपुर के सांसद रामचरण बोहरा, राजस्थान के चित्तौडग़ढ़ के सांसद सी.पी.जोशी, पूर्व मंत्री व रायपुर विधायक सत्यनारायण शर्मा, महाराष्ट्र की पूर्व मंत्री प्रभा ओझा, दौसा विधायक शंकरलाल शर्मा, नवलगढ़ विधायक राजकुमार शर्मा सहित विफा के अनेक पदाधिकारीगण, संतवृंद व विभिन्न समाजों के प्रतिष्ठित व्यक्तित्वगण मौजूद थे। संतवृन्दों का वैदिक ऋचाओं के साथ व अतिथिगणों का दुपट़्टा-ममेंटो भेंट कर सत्कार के साथ शुरु हुए कार्यक्रम में लखनऊ के मेयर डा. शर्मा ने कहा कि विफा की गतिविधियां एवं संकल्प पर्व जैसा आयोजन दृढ़ संकल्प के साथ समाज को मजबूती देगा। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण जाति नहीं प्रवृत्तिशील विचारधारा है। धीरज-धर्म की परीक्षा में वर्तमान समय में महाकुंभ को अत्यावश्यक एवं विकृतियों को मिटाने वाला बताया।विभिन्न क्षेत्रों ब्राह्मण समाज के देश के लिए दिए योगदान को नमन करते हुए गुजरात विधानसभाध्यक्ष गणपति वसावा ने कहा कि समाज को तोडऩे वाली ताकतों के विरुद्ध एकजुटता व राष्ट्रचिंतन हेतू एक मंच पर एकत्रण अनुपम पहल है। सांसद सी.आर.पाटिल ने विप्रों के सूरत में पहले और वृहद् स्तर के आयोजन को प्रशंसनीय बताते हुए संगठन की एकजुटता व मजबूती पर बल दिया।

डा. चतुर्वेदी ने कहा कि ब्राह्मण के संगठित होने पर सम्पूर्ण समाज संगठित होगा। मंत्री राजकुमार रिणवा ने कहा कि ब्रह्मजनों के लिए आज शिक्षा, आध्यात्मिक ज्ञान, संस्कार, गौसेवा को जरुरी बताते हुए रागद्वेष मिटाने की सीख द ी। सांसद बोहरा, सांसद सी.पी.जोशी, विधायक राजकुमार शर्मा, विधायक शंकर शर्मा, विफा के राजस्थान के कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष मुकेश दाधीच, राष्ट्रीय अध्यक्ष बनवारीलाल सोती, संरक्षक संजय श्रोती, विधायक रतन जलधारी सहित अनेक वक्ताओं ने विचार रखे।

इससे पहले कार्यक्रम का सफ ल संचालन करते हुए विफा के अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक सुशील ओझा ने बताया कि 10 संकल्पों के साथ राज्य व केन्द्र सरकारों से 4 आग्रह किए जिनमें भगवान श्री परशुराम की जन्म जयंती के राष्ट्रीय स्तर पर अवकाश की घोषणा कर इसे आतंक निर्मूल दिवस के रुप में मनाने, सवर्ण समाज के लिए आर्थिक आधार पर 15 प्रतिशत आरक्षण तत्काल प्रभाव से लागू करने, कश्मीर के विस्थापित लाखों पंडित परिवारों का संरक्षण में भरण-पोषण सुनिश्चित करने और उन्हें नि:शुल्क भूमि देकर सामूहिक रुप से की पुनस्र्थापन की कार्यवाही शुरु कराने तथा राजस्थान सरकार के संकल्प पत्र में उल्लेखित विषयों भगवान परशुराम विश्वविद्यालय की स्थापना आदि शंकराचार्य बोर्ड का गठन, गौ संवद्र्धन की विभिन्न योजनाओं आदि को शीघ्रताशीघ पूरा करने की दिशा में तेजी से कार्यों का उल्लेख किया। ओझा ने आगामी एक वर्ष में सभी पांच महाकुंभ शहरों पर विभिन्न प्रकल्पों यथा कार्यालय स्थापन व भावी पीढ़ी के शिक्षा एवं विकास हेतू स्थापना की घोषणा की।

कार्यक्रम में विप्र महाकुंभ सूरत के स्वागताध्यक्ष घनश्यामदास शर्मा, स्वागतमंत्री महेन्द्र शर्मा व प्रदेश महामंत्री ने सभी आगन्तुकजनों का स्वागत एवं आभार जताया। मंच पर विफा के राष्ट्रीय महासचिव भरतराम तिवारी, श्रीकिशन जोशी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष धर्मनारायण जोशी,  आर.के.ओझा, पवन पारीक, कुलदीप वशिष्ठ, डा. गौरव वल्लभ, राजेन्द्र जोशी, नरेश कुमार, विनोद अमन, बलदेव व्यास, ताराचंद सारस्वत, पशुपति कुमार शर्मा, पार्षद विजय चौमाल सहित अनेक राष्ट्रीय व विभिन्न राज्यों के पदाधिकारीगण मौजूद थे। इस दौरान गणपति वंदना, गरबा व राजस्थानी लोकनृत्यों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी कलाकारों द्वारा दी गईं। 

गौपूजन व तापी नदी में चूनरी ओढ़ाकर किया महाकुंभ का आगाज
सूरत। रविवार सुबह विप्र महाकुंभ के स्वागत मंत्री महेन्द्र शर्मा ने अपनी धर्मपत्नि मीरा के साथ विद्वान पं. धनजी शास्त्री के सानिध्य में गौपूजन सूरत की ईष्टदेवी अंबामाता मंदिर में पूजा-अर्चना कर यहां चन्द्रिका बहन जी से आशीर्वाद लिया तत्पश्चात् सूर्यपुत्री तापी नदी को विधि-विधान से 108 मीटर की चूनरी ओढ़ाकर कार्यक्रम की शुरुआरात की। इस मौके विफा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनवारीलाल सोती, राष्ट्रीय महासचिव श्रीकिसन जोशी, सांवरमल माटोलिया, राजकुमार शर्मा, प्रीतम शर्मा, दामोदर चौवटिया, बाबूलाल पुरोहित, सुरेश पुरोहित, शंकर दवे, श्री जीणमाता युवा संघ के कृष्ण मुरारी शर्मा, नरपत सिंह राठौड़, गोपाल झालानी, योगेश दाधीच व पूनमचंद शर्मा सहित अनेक विप्रजन मौजूद थे। वहीं दूसरी ओर विफा युवा टीम की ओर से राष्ट्रीय पदाधिकारी जगदीश आचार्य के साथ सूरत में विभिन्न स्मारकों प्रतिमाओं पर श्रद्धासुमन-नमन का कार्यक्रम जे.पी.दीक्षित के संयोजन में हुआ। 

विप्रजन, विप्र महाकुंभ, सूरत, अंबामाता मंदिर,

Share this news

Post your comment