Wednesday, 19 December 2018
khabarexpress:Local to Global NEWS

सर्व समाज के युवाओं ने किया शिविर में 557 युनिट रक्तदान

संभाग स्तरीय विशाल ब्राह्मण समाज सम्मेलन का हुआ आयोजन

सर्व समाज के युवाओं ने किया शिविर में 557 युनिट रक्तदान

बीकानेर। युवा समाजसेवी पंडित भागीरथ सारस्वत की प्रथम पुण्यतिथि पर बीकानेर ब्राह्मण समाज द्वारा संभाग स्तरीय विशाल ब्राह्मण समाज सम्मेलन जयपुर मार्ग स्थित श्रीछःन्याति ब्राह्मण महासंघ जमीन पर प्रातः दस बजे से आयोजित किया गया।
बीकानेर ब्राह्मण समाज संभागीय संयोजक के के शर्मा ने बताया कि ब्राह्मण महासम्मेलन का शुभारंभ मुख्य अतिथि  हस्तीमल सारस्वत जोधपुर, वरिष्ठ समाजसेवी सत्यनारायण जोशी, युवा नेता मनीष रिणवा रतनगढ़, दाधीच समाज अध्यक्ष मगनलाल ओझा, सारस्वत समाज अग्रणी महासमिति राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्यनारायण तावनियां तथा कार्यक्रम अध्यक्ष वयोवृद्ध स्वतंत्रता सेनानी हीरालाल शर्मा द्वारा भगवान परशुराम के तैल चित्र पर माल्यार्पण तथा दीप प्रज्वलन कर किया गया। पंडित गायत्री प्रसाद शर्मा के नेतृत्व में संस्कृत आचार्यों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण तथा स्वस्तिवाचन किया गया।
ब्राह्मण समाज की सभी न्यातों के मंचासीन अध्यक्षगणों द्वारा स्वर्गीय भागीरथ सारस्वत बेरासर तथा भुमि दानदाता स्वर्गीय ब्रह्मानंद भनोत के तैल चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई।
राजस्थान ब्राह्मण मंच प्रदेशाध्यक्ष बनवारीलाल शर्मा ने दिवंगत भागीरथ सारस्वत के जीवन परिचय पर संक्षिप्त प्रकाश डाला। 
ब्राह्मण समाज महासम्मेलन को संबोधित करते मुख्य अतिथि जोधपुर के प्रख्यात विधिवेत्ता हस्तीमल सारस्वत ने कहा कि युवा समाजसेवी भागीरथ सारस्वत छत्तीस कौम के दिल में आज भी जिंदा है। चंवालिस वर्ष की छोटी सी आयु में भी सर्व समाज में अपने धर्म परायण स्वभाव एवं निरन्तर मददगार रहकर सच्चे मानव धर्म का पालन किया। जिसे आज भी लोग याद करते हैं।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वयोवृद्ध स्वतन्त्रता सेनानी पंडित हीरालाल शर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि भागीरथ सारस्वत सही मायने में मानवीय सद्गुणों के साक्षात उदाहरण थे। उन जैसे सज्जन पुरुष सौभाग्य से जन्म लेते हैं।
युवा नेता मनीष रिणवा ने कहा कि भागीरथ सारस्वत युवा वर्ग में खासे लोकप्रिय थे। छात्रों की समस्याओं को समाधान करने के लिए सदैव तत्पर दिखाई देते थे। निकट सहयोगी रहे पार्षद भगवती प्रसाद गौड़ ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भागीरथ सारस्वत श्रीछःन्याति ब्राह्मण महासंघ जमीन पर भव्य छात्रावास बनाने के लिए जीवन पर्यंत प्रयास करते रहे। उनके सपने को साकार करके ही उनको सच्ची श्रद्धांजलि दी जा सकती है। 
वयोवृद्ध समाजसेवी सत्यनारायण जोशी ने संबोधित करते हुए कहा कि भागीरथ सारस्वत राष्ट्रीय एकता और सामाजिक समरसता के पक्षधर थे।
महासम्मेलन को विप्र फाउंडेशन प्रदेशाध्यक्ष ताराचंद सारस्वत, कैलाश पारीक नोखा, सत्यनारायण तावनियां रीड़ी, महिला प्रदेशाध्यक्ष सविता गौड़, हरि गोपाल उपाध्याय, ओमप्रकाश जोशी, महावीर प्रसाद गुरावा, प्रभुदयाल सारस्वत, श्रवण त्रिवेदी, भंवरलाल पुरोहित तथा राजकुमार शर्मा ने संबोधित किया। 
इस अवसर पर सागरमल सारस्वत लूनकरनसर, काशी राम कायल खाजुवाला, भगवानदेव सारस्वत श्रीकोलायत, उप प्रधान अजय गौड़, पुर्व उप प्रधान शिवरतन ओझा अर्जुनसर, श्रीडुंगरगढ़ सारस्वत कुण्डीय समाज अध्यक्ष बजरंग लाल ओझा, सेवानिवृत्त डीएसपी ओमप्रकाश जोशी, एडवोकेट कुलदीप शर्मा, श्रवण पालीवाल, डॉ मीना आसोपा, शोभा सारस्वत तथा सुनिता गौड़ सहित बड़ी संख्या में ब्राह्मण समाज के गणमान्य लोग उपस्थित थे। 
सम्मेलन में ब्रह्मानंद छात्रावास निर्माण के लिए पंडित श्योकरण सारस्वत दुलमाना की स्मृति में उनके पुत्रों द्वारा 51,000 ईंटों, पंडित नानुराम ओझा की स्मृति में उनके पुत्रों द्वारा 14,000 ईंटों, भाजयुमो हनुमानगढ जिलाध्यक्ष सुशील जोशी व राजकुमार जाजड़ा द्वारा 11,000 हजार ईंटों, पंडित पुर्णाराम काशीराम सारस्वा बामनवाली द्वारा 11,000 ईंटों तथा रामकिशन मोट जैसलसर द्वारा 5,000 ईंटों की घोषणा की गई।
ब्राह्मण समाज महासम्मेलन का संचालन वरिष्ठ कवियत्री मोनिका गौड़ ने किया तथा आभार नेमीचंद गुरावा तथा जगदीश प्रसाद गुरावा ने संयुक्त रूप से किया। 
इस अवसर पर प्रातः नौ से दो बजे तक स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन भी रखा गया। जिसमें सैंकड़ों युवाओं ने स्वैच्छिक पंजीयन करवाया तथा पीबीएम होस्पीटल ब्लड बैंक टीम के मार्गदर्शन में 557 युनिट रक्तदान किया गया।
कार्यक्रम समापन से पुर्व पंडित भागीरथ सारस्वत के परिवार के सदस्यों जगदीश प्रसाद गुरावा, मनोज बेरासर, राजकुमार गुरावा, मनोज सारस्वत तथा पवन कुमार तावणिया द्वारा दोनों कार्यक्रम में विशेष सहयोग करने वाले कार्यकर्ताओं रामनिवास खांतडिया, शुभकरण तावनियां, नरेश मोट, देवीलाल ओझा, दीनदयाल सारस्वा, राधाकृष्ण शर्मा, रुपचंद सारस्वत, किशनलाल शेरेरां, गजानंद कपुरीसर, सरपंच परमेश्वर लाल, लालचंद सारस्वत, मदनलाल नारसीसर, तनुज सारस्वत, रविन्द्र जाजड़ा, बद्री प्रसाद तावनियां, श्रवण कायल, राजा पारीक, दीनदयाल ओझईया तथा नंदलाल खारड़ा आदि का मोमेंटों, सर्टिफिकेट तथा दुपट्टे सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में भगवान परशुराम की वेशभूषा धारण कर पहुंचे पंडित रामलाल ओझा ने लोगों का ध्यान आकर्षित किया। 

Share this news

Post your comment

Brahman Community   Bikaner Brahman