Friday, 19 April 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  798 view   Add Comment

पुष्करणा सावे पर मंगल गीत पुस्तक का विमोचन

वधु परिवारों को दी खिरोड़ा, श्रृंगार पेटी, खोळा वैवाहिक सामग्री, तीन बालिकाओं की ली शैक्षिक जिम्मेवारि

पुष्करणा सावे पर मंगल गीत पुस्तक का विमोचन

वधु परिवारों को दी खिरोड़ा, श्रृंगार पेटी, खोळा वैवाहिक सामग्री,

तीन बालिकाओं की ली शैक्षिक जिम्मेवारि

 

बीकानेर। पुष्करणा महिला मंडल की सदस्यों द्वारा पुष्करणा ओलम्पिक सावे के उपलक्ष पर विवाह गीतो की संकलित  पुस्तक मंगल गीता का धरणीधर रंगमंच मे एक कार्यक्रम मे विमोचित की गई।
मंडल कोषाध्यक्ष मीनाक्षी हर्ष ने बताया कि इस कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि समाजसेवी राजेश चूरा, विशिष्ट अतिथि समाजसेवी रूपकिशोर व्यास व शिक्षाविद् रामजी व्यास तथा कार्यक्रम के अध्यक्ष वरिष्ठ चिकित्सक राहुल हर्ष  ने मंगल गीत पुस्तक का लोकार्पण किया।

रेखा आचार्य ने कहा कि इस अवसर पर मंडल की सदस्यों और समाजसेवियों की मदद से 15 वधु परिवारों को विभिन्न वैवाहिक परम्ंपराओं पर उपयोगि सामग्री भेंट दी गई जिसमे खिरौड़ा परंपरा की 5 किलो मूंग, 5 किलो चीनि, 5 किलो बड़ी, 5 किलो पापड़, 5 नारियल व 5 किलो दुग्ध का कलश दिया गया। 25 वधुओं के उपयोग के लिये श्रृंगार पेटी  जिसमे 5 साड़ियां, सोने की नाथ लौंग, चांदी की बिछिया व अन्य सौन्दर्य प्रसाधन सामग्री दी गई। 
 
सदस्य वरूणा पुरोहित ने बताया कि 15 वधु परिवारों को खौळे का सामान में एक किलों बादाम, एक किलो काजू, एक किलो अखरोट, एक किलो मिश्री, एक किलो गट व जरूरी कपड़े भी भेंट दिये गये।
इस अवसर राजेश चूरा ने कहा कि सावे के अवसर मंगल गीतों की यह पुस्तक नई पीढ़ी को विवाह परंपरा की मीठी परंपरा को जागृत रखेगी जो अभी डीजे की कानफोडू संगीत मे दब रही है। 
शिक्षाविद् रामजी व्यास ने कहा कि महिलाओं का इस तरह समाज सेवा के लिये लगातार आगे आना महत्वपूर्ण है जिससे समाज का चहुमुखी विकास होगा।  

समाजसेवी रूपकिशोर व्यास ने कहा कि परंपराओं और समाजसेवा का यह कार्य महिलाओं द्वारा करना अपने आप सशक्त समाज की परिकल्पना पूरी करता है जो अनूकरणीय है।
 डाॅ राहुल हर्ष ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि पुष्करणा समाज के यह  महिला मंडल महिला सशक्तिकरण की अनूठी संस्था है  जो शिक्षा, चिकित्सा, समाजसेवा के साथ साथ परंपराओं को भी एकजुट होकर पूरा करती है।
मण्डल सदस्या पूजा जोशी ने मंगलगीत पुस्तक पर प्रकाश डालते हुए विभिन्न विधाओं के गीतों के बारे मे  बताया। यह पुस्तक रूप निखार ब्यूटी पार्लर, न्यू फैशन जोन, बीकानेर लेबोरेट्री, मंडल कार्यालय यूनिक स्ट्रीट पर उपलब्ध है।
कार्यक्रम का संचालन ज्योतिप्रकाश रंगा ने किया।

इस अवसर पर महिला मंडल की अध्यक्ष  अर्चना थानवी, डाॅ विजयलक्ष्मी व्यास, अरूणा चूरा, वन्दना पुरोहित, डाॅ प्रीति रंगा, सुनीता व्यास, पिंकी पुरोहित, विजयलक्ष्मी आचार्य, अनुपमा रंगा,  शारदा पुरोहित, सुमन ओझा, सीमा पुरोहित, नीलम जोशी  ने विशेष सहयोग देते हुए अपनी उपस्थिति दर्ज करवायी। 

Pushkarna Mahila Mandal, PMM Bikaner, Pushkarna Sawa, Pushkarna, Wedding Songs Book,

Share this news

Post your comment