Monday, 22 July 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  4425 view   Add Comment

58वीं राज्य स्तरीय बालिका खो-खो प्रतियोगिता का हुआ शुभारंभ

जीत कर आगे बढऩे और हार से सबक लेकर जिदंगी जीना सिखाते है खेल: भगोरा

58वीं राज्य स्तरीय बालिका खो-खो प्रतियोगिता का हुआ शुभारंभ
जीत कर आगे बढऩे और हार से सबक लेकर जिदंगी जीना सिखाते है खेल: भगोरा
डूंगरपुर, 21 सित बर/खेल व्यक्ति को जीतने पर जहां आगे बढऩे का हौंसला देते हैं वहीं हारने पर अपनी गलतियों से सबक लेकर उसमें सुधार कर पुन: जीतने के लिए प्रेरित भी करते हैं। खेल के माध्यम से सीखे गये मेहनत, लगन, दृढ़ निश्चय, नेतृत्व, सहभागिता जैसे मूल्यों को अपनाते हुए व्यक्ति जिदंगी के विभिन्न क्षेत्रों में भी जीतने के लिए प्रेरणा तथा हार को सहजता से स्वीकार कर कमियों को दूर करने का हूनर सीखता है।
ये उद्गार बांसवाड़ा-डूंगरपुर लोकसभा क्षेत्रा के सांसद ताराचंद भगोरा ने जिला मु यालय पर स्थित लक्ष्मण मैदान में माध्यमिक शिक्षा विभाग के तत्वाधान में 58वीं राज्य स्तरीय माध्यमिक-उच्च माध्यमिक विद्यालयी 17 से 19 आयु वर्ग की छात्रा खो-खो खेलकूद प्रतियोगिता के शुभारंभ समारोह में बतौर मु य अतिथि संबोधित करते हुए व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि राजस्थान में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है ऐसे में खिलाड़ी अपने उमदा खेल कौशल का प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय खेल जगत में अपना तथा देश-प्रदेश का नाम रोशन करें। इस मौके पर उन्होंने खिलाडियों से खेल भावना के साथ खेलने तथा खेल के माध्यम से देश की एकता, अखण्डता व तरक्की के लिए कार्य करने का भी आह्वान किया।
समारोह की अध्यक्षता करते हुए राजस्थान राज्य मेला प्राधिकरण उपाध्यक्ष दिनेश खोडनिया ने वागड़ की अतिथि देवो भव के साथ भाईचारे की सांस्कृतिक विशिष्टता को बताते हुए कहा कि भारत का भविष्य युवा शक्ति जिस तरह से विभिन्न क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा से देश का नाम रोशन कर रहें हैं आज पूरी दुनियां की नजरें भारत के होनहार युवाओं पर टिकी है और इसी कारण से सरकार शैक्षिक एवं तकनीकी प्रोत्साहन देने वाली विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के माध्यम से युवाओं के शारीरिक, मानसिक एवं बौद्धिक विकास के लिए सार्थक प्रयास कर रहीं है।
इस मौके पर उन्होंने शारीरिक शिक्षकों के साथ ही समस्त लोगों से आह्वान किया कि वे बच्चों को अनुशासन का महत्व बताते हुए अधिकारों के साथ साथ कर्तव्यों के जि मेदारीपूर्वक निर्वहन की नैतिक शिक्षा भी प्रदान करें जिससे समाज की युवा शक्ति जीवन में सही दिशा में अग्रसर हो सकें।
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डूंगरपुर विधायक लालशंकर घाटिया ने कहा कि खो-खो दिमाग से खेले जाना वाला अद्भूत खेल है जिससे व्यक्ति का मानसिक विकास होता है। ये खेल खिलाड़ी को जीवन के किसी भी क्षेत्रा में जीतने का गुर सीखाता है। उन्होंने कहा कि खेल से खिलाड़ी का न केवल शारीरिक वरन मानसिक विकास भी होता है इसलिए खेल जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है तथा बच्चों के सर्वागीण विकास के लिए खेल अत्यावश्यक है। इस अवसर पर उन्होंने समस्त खिलाडियों को अपने खेल कौशल का उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए आगे बढऩे की बात कहीं।
 इस मौके पर उन्होंने सरकार द्वारा बालिकाओं के शैक्षिक प्रोत्साहन के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी देते हुए छात्राओं से खेल के साथ ही पढ़कर आगे बढऩे तथा जागरुक रहकर योजनाओं का लाभ उठाने की अपील की।
समारोह के दौरान विशिष्ट अतिथि के रुप में उप जिला प्रमुख प्रेमकुमार पाटीदार, समाजसेवी प्रियकांत पण्ड्या, नानूराम माली, उर्मिला अहारी एवं शार्दुल चौबीसा मंचासीन थे।
समारोह के प्रारंभ में उच्च माध्यमिक गुरुकुल सेन्ट्रल एकेडमी विद्यालय की छात्राओं ने मंगल कलश तथा निशात शेख एवं समूह द्वारा स्वागत गीत से अतिथियों का पार पारिक तरीके से स्वागत किया।
इस अवसर पर अतिथियों ने राजस्थान के विभिन्न जिलों से आए खिलाड़ी दलों के दल प्रभारियों, निर्णायकों एवं प्रतियोगिता समिति के सदस्यों से परिचय किया। अतिथियों द्वारा मां सरस्वती की मूर्ति पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के साथ ईशिका पण्ड्या एवं दल द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।
इस मौके पर अतिथियों द्वारा ध्वाजारोहण एवं उद्घोषणा का वाचन करते हुए खिलाडियों को शपथ दिलवाई गई। मु य अतिथि सांसद भगोरा एवं अध्यक्ष खोडनिया ने प्रदेश के विभिन्न जिलों के खिलाडियों द्वारा प्रस्तुत की गई आकर्षक मार्च पास्ट की सलामी ली।
प्रारंभ में जिला शिक्षा अधिकारी(माध्यमिक) हरिप्रकाश डेंडोर ने समस्त अतिथियों का माल्यार्पण स्वागत किया गया। इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी डेंडोर ने समस्त अतिथियों को 21 से 26 सित बर तक आयोजित होने वाली खो-खो खेलकूद प्रतियोगिता की जानकारी प्रदान करते हुए कार्यक्रम बुलेटिन "आगाज" की प्रति तथा स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।
इससे पूर्व गुरुकुल संस्थान के निदेशक शरद जोशी ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। इस मौके पर उप जिला शिक्षा अधिकारी शारीरिक शिक्षा महेश कलासुआ ने भी विचार व्यक्त किए।
इस मौके पर बीकानेर से आए पर्यवेक्षक रमेश बरण्डा, उप जिला शिक्षा अधिकारी(माध्यमिक) गटूलाल अहारी, संस्था प्रधान हेमेन्द्र, योगेश रोत, विक्रम सिंह अहाडा, रोहित जैन, गिरिजा वैष्णव, अर्चना भट्ट सहित जिले के विभिन्न विद्यालयों से आए संस्था प्रधान, शारीरिक शिक्षक, अन्य अधिकारी-कर्मचारी, गणमान्य नागरिक, विद्यालयी छात्राओं सहित बड़ी सं या में दर्शकगण उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन धीरज टेलर, गजेश जोशी तथा प्रेरणा भट्ट ने किया जबकि आभार प्रदर्शन गुरुकुल एकेडमी के संस्था प्रधान शाबाद हुसैन द्वारा किया गया।
 
मनोहारी प्रस्तुतियों ने दी सांस्कृतिक गरिमा:
समारोह के दौरान गुरुकुल सेन्ट्रल एकेडमी की चार्मी साद एवं दल द्वारा प्रस्तुत "पधारों हारे देश" नृत्य ने जहां प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए खिलाडियों तथा आगंतुकों के प्रति सत्कार का भाव प्रकट किया वहीं फाल्गुनी वसीटा एवं दल ने राजस्थान के सुप्रसिद्ध लोकनृत्य कालबेलियां की मनोहारी प्रस्तुती देकर माहौल को सांस्कृतिक गरिमा प्रदान की तथा उपस्थित दर्शकों ने इन आकर्षक प्रस्तुतियों की जमकर सराहना की।
 
कुल 51 दलों ने की है शिरकत:
शनिवार को स्थानीय लक्ष्मण मैदान में शुरु हुए तथा 26 सित बर तक चलने वाली 58वीं राज्य स्तरीय माध्यमिक-उच्च माध्यमिक विद्यालयी 17 से 19 आयु वर्ग की छात्रा खो-खो खेलकूद प्रतियोगिता में प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए कुल 51 दलों ने शिरकत की है। संस्था प्रधान रोहित जैन ने बताया कि 19 वर्ष आयु वर्ग में कुल 25 दलों ने तथा 17 वर्ष आयु वर्ग में कुल 26 दलों ने भाग लिया है तथा कुल छ: सौ बारह छात्राएं इस प्रतियोगिता में स िमलित हुई है।
मार्च पास्ट में प्रथम रहा डूंगरपुर:
शनिवार को स्थानीय लक्ष्मण मैदान में 58वीं राज्य स्तरीय माध्यमिक-उच्च माध्यमिक विद्यालयी 17 से 19 आयु वर्ग की छात्रा खो-खो खेलकूद प्रतियोगिता के शुभारंभ के अवसर पर राज्य के विभिन्न हिस्सों से आए खिलाडिय़ों के आकर्षक मार्च पास्ट में डूंगरपुर जिले ने प्रथम स्थान अर्जित किया जबकि झूंझनु द्वितीय तथा नागौर के दल ने तृतीय स्थान हासिल किया।
 
उद्घाटन मैच में झूंझनु एवं उदयपुर रहे विजेता:
शनिवार को स्थानीय लक्ष्मण मैदान में 58वीं राज्य स्तरीय छात्रा खो-खो प्रतियोगिता के उद्घाटन मैचों में 17 वर्ष आयु वर्ग में झूंझनु एवं नागौर के बीच हुए मैच में झूंझनु दस अंकों के साथ विजेता बना वहीं 19 वर्ष आयु वर्ग में उदयपुर एवं सिरोही के बीच हुए मैच में उदयपुर एक अंक से विजेता रहा।
 

 

58th District School Sports Competition, Jimrastik conclusion of the competition, Football competition,

Share this news

Post your comment