Saturday, 19 October 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  4260 view   Add Comment

रंगीला स्मृति शतरंज प्रतियोगिता के विजेता पुरस्कृत

वक्ताओं ने कहा, खेलों में रखें सकारात्मक प्रतिस्पर्धा, संस्था के प्रयास है सराहनीय

बीकानेर, 3 जनवरी। झंवर लाल व्यास ‘रंगीला’ की स्मृति में रंगीला फाउण्डेशन द्वारा गत 29 से 31 दिसम्बर तक आयोजित जिला स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के विजेताओं को शुक्रवार को नालंदा पब्लिक स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कृत किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ एच पी व्यास थे। उन्होंने कहा कि फाउण्डेशन पिछले आठ सालों से सामाजिक सरोकारों के जुड़े कार्यक्रम आयोजित कर रहा है जो कि यह अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि युवा ही देश की सबसे बड़ी ताकत है। इन्हें सकारात्मक दृष्टिकोण से आगे बढ़ना चाहिए। विशिष्ट अतिथि बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्रा के विधायक डाॅ गोपाल जोशी थे। उन्होंने प्रतियोगिता के विजेता शातिरों को बधाई दी तथा दूसरों को इनसे प्रेरणा लेते हुए आगामी संस्करणों में बेहतरीन प्रदर्शन की सीख दी। उन्होंने कहा कि खेल को खेल भावना से खेलना चाहिए तथा खिलाड़ियों को सकारात्मक प्रतिस्पर्धा रखते हुए सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने के प्रयास किए जाने चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार लक्ष्मी नारायण रंगा ने की। उन्होंने कहा कि मनुष्य के सर्वांगीण विकास में खेलों की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। शतरंज मानसिक विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा अन्य पारम्परिक खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए भी कार्य करने चाहिए।
इससे पहले अतिथियों ने झंवर लाल व्यास ‘रंगीला’ के तैलचित्रा पर पुष्पांजलि अर्पित की। पार्षद शिव कुमार रंगा ने कहा कि रंगीला ने शतरंज के क्षेत्रा मंे बीकानेर को नई पहचान दिलाई। उन्होंने संस्था के प्रयासों को सराहनीय बताया। संस्था अध्यक्ष एडवोकेट बसंत आचार्य ने स्वागत उद्बोधन दिया। मधुसूदन व्यास ने रंगीला के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। आभार जुगल किशोर व्यास ने जताया। रिद्धिका आचार्य ने रंगीला के व्यक्तित्व पर आधारित कविता प्रस्तुत की। कार्यक्रम का संचालन हरि शंकर आचार्य ने किया। 
विजेता हुए पुरस्कृत
इस अवसर पर अतिथियों ने रंगीला स्मृति शतरंज प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया। आयोजन सचिव जुगल किशोर व्यास ने बताया कि सीनियर वर्ग के विेजेता बी एल प्रजापत, उपविजेता राम कुमार तथा संयुक्त रूप से तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले अरविंद शर्मा और कश्यप तिवाड़ी को पुरस्कृत किया गया। वहीं जूनियर वर्ग में के विजेता गोविंद नारायण ओझा, उपविजेता हिमांशु मारु और तीसरे स्थान पर रहे योगेश सिंह को पुरस्कृत किया।  इसी प्रकार सब जूनियर वर्ग के विजेता तुषार वर्मा, उपविजेता देवेश प्रजापत और तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले आकाश स्वामी को पुरस्कार प्रदान किए गए।  उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता के सर्वश्रेष्ठ बुजुर्ग खिलाड़ी ओम प्रकाश कच्छावा, सर्वश्रेष्ठ महिला शातिर काव्या केशवानी और सर्वश्रेष्ठ बाल शातिर विकास मार को भी पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर प्रतियोगिता के आर्बिटर डी पी छींपा तथा भवानी शंकर आचार्य का सम्मान किया गया। इनके अलावा सब जूनियर वर्ग के 64 प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किए गए।  
कार्यक्रम में एलआईसी के विकास अधिकारी महेश मोंगा, सहायक निदेशक (प्राशि) अरविंद व्यास, पूर्व मिस्टर डेजर्ट राजेन्द्र व्यास, विकास आचार्य, राजस्थान एकाउंटेंट एसोशिएसन के योगेश व्यास, गिरिराज व्यास, अनिरूद्ध आचार्य सहित अन्य गणमान्य नागरिक नागरिक मौजूद थे।
 

Share this news

Post your comment