Sunday, 26 September 2021

KhabarExpress.com : Local To Global News
  8592 view   Add Comment

कडी मेहनत व अनुशासन ही सफलता का आधारः लिम्बाराम

लिम्बाराम ने कहा कि राजस्थान में अंतर्राष्टीय स्तर के ग्राउण्ड व हास्टल बन रहे हैं और आने वाले समय में राजस्थान से अच्छे खिलाडी सामने आएंगे। लिम्बाराम ने कहा कि आदीवासी ईलाकों से व राजस्थान के हर उस क्षेत्र से जहां प्रतिभा है उसे आगे लाने का प्रयास किया जाएगा।

कडी मेहनत व अनुशासन ही सफलता का आधारः लिम्बाराम

Limbaran in a press at Dronacharya Archary Organisation अंतर्राष्ट्रीय तीरअंदाज व वर्तमान में खेल परिषद, जयपुर में तीरअंदाजी के प्रशिक्षक लिम्बाराम ने आज बीकानेर में कहा कि कि सिर्फ आधुनिक उपकरणों से अच्छा खिलाडी तैयार नहीं होता। एक खिलाडी को चाहिए कि वह दिन में करीब साढे तीन घण्टा की दौड लगाए और फिजीकल एक्सरसाइज करे। खिलाडी के लिए योगा व ध्यान का महत्व बताते हुए लिम्बाराम ने कहा कि योग से ध्यान केन्दि्रत होता है और तीरअंदाजी में ध्यान ही सबसे प्रमुख शक्ति है। खेलों में अनुशासन के महत्व को स्पष्ट करते हुए लिम्बाराम ने कहा कि अनुशासन के बिना कोई भी खेल संभव नहीं है। लिम्बाराम ने बीकानेर में प्रेस काँफ्रेस में यह वादा किया है कि आने वाले दो सालों में राजस्थान के खिलाडी ओलम्पिक में मैडल जरूर लाएंगे। लिम्बाराम ने कहा कि राजस्थान में खिलाडीयों की कमी नहीं है और न ही उत्साह व जोश की अगर प्रशासन मीडीया व समाज के हर वर्ग का सहयोग मिले तो तीरंदाजी भी किर्केट की जगह ले सकता है।
लिम्बाराम ने कहा कि राजस्थान में अंतर्राष्टीय स्तर के ग्राउण्ड व हास्टल बन रहे हैं और आने वाले समय में राजस्थान से अच्छे खिलाडी सामने आएंगे। लिम्बाराम ने कहा कि आदीवासी ईलाकों से व राजस्थान के हर उस क्षेत्र से जहां प्रतिभा है उसे आगे लाने का प्रयास किया जाएगा।
बीकानेर में तीरंदाजी की संभावनाओं के बारे में लिम्बाराम ने कहा कि बीकानेर में काफी अच्छे खिलाडी है और अगर बीकानेर में एक हॉस्टल और प्रशिक्षण केन्द्र हो तो ये खिलाडी अपना खेल विश्व पटल पर रख सकते हैं।
लिम्बाराम आज तीरअंदाजी संघ बीकानेर के उपकरण देखने बीकानेर आए थे। ये उपकरण बीकानेर के विधायक बी डी कल्ला ने अपने विधायक कोटे से दिलाए है। तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र जोशी ने बताया कि विधायक कोटे से स्पोर्ट्स कॉसिंल बीकानेर को दो लाख पिचहत्तर हजार रूपये मिले हैं और इसी पैसे से तीरंदाजी के उपकरण खरीदे गए हैं।
Limabara at Dronacharya Teerandaji Sansthaबीकानेर में तीरंदाजी के प्रशिक्षक गणेश व्यास ने बताया कि ये सारे उपकरण यूएसए से खरीदे गए हैं। इसमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर के धनुष कम्पाउण्ड धनुष व रिकर्व धनुष खरीदे गए हैं। साथ में धागा बनाने की मशीन भी है ताकि धागे के लिए खिलाडीयों को इधर उधर न देखना पडे। सामान के साथ सहायक सामग्री भी है जिससे असमय टूट फूट को तुरंत ठीक किया जा सकता है।
लिम्बाराम ने बताया कि ये सारे उपकरण काफी आधुनिक है और इससे खिलाडीयों को काफी मदद मिलेगी।
बीकानेर तीरंदाजी संघ के शक्तिरतन रंगा ने बताया कि बीकानेर के एक तीरंदाज बजरंग तँवर का सलेक्शन आज ही राजस्थान स्पोर्ट्स कॉउन्सिल ने किया है और यह खिलाडी जयपुर में हॉस्टल में रहकर अपना खेल सुधारेगा।

Share this news

Post your comment