Wednesday, 16 October 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  3756 view   Add Comment

भारत सरकार से मिला बीटीयू को नया प्रोजेक्ट

बीटीयू करेगा तकनीकी षिक्षा में गुणवता सुधारने का काम

प्रौद्योगिकी में नये आयाम स्थापित भारत सरकार के मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के द्वारा तकनीकी षिक्षा के बढते महत्व को साकार करने और सूचना और संचार प्रौद्योगिकी की क्षमता का लाभ उठाने एवं उच्च षिक्षा में प्रषिक्षण की गुणवता बढाने हेतु मानव संसाधन मंत्रालय एवं नेषनल इन्स्टीट्यूट आॅफ टेक्निकल टीचर्स ट्रेंनिग एण्ड रिसर्च (एनआईटीटीटीआर) चण्डीगढ एवं बीकानेर तकनीकी विष्वविद्यालय से एक महत्वपूर्ण एम.ओ.यू केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय केे साथ किया गया बीकानेर तकनीकी विष्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एच.पी.व्यास ने बताया कि इस एम.ओ.यू. का मूख्य उद्देष्य तकनीकी षिक्षा की गुणवता को बढाने एंव देष में अच्छे व्याख्याताओ की कमी की पूर्ति करने के लिए एनआईटीटीटीआर चण्डीगढ द्वारा राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय लेवल के विषय विषेषज्ञ व्याख्याताओ के व्याख्यान बीटीयू तथा उससे सम्बन्धीत महाविद्यालयों में विडियों कांन्फेन्सिंग के माध्यम से प्रसारण कर व्याख्याता एवं विद्यार्थियों को लाभान्वित करना है । तथा इसके प्रसारण के लिए उपकरण एवं नई तकनीक का बड़ा भाग इस एम.ओ.यू. के तहत केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय वहन करेगा । इस एमओयू में केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री एम. पल्लम राजू एवं एनआईटीटीटीआर के निदेषक प्रो. एम.पी. पूनिया एवं उत्तरी भारत के 9 राज्यों से आये हुए प्रमुख शासन सचिव एवं तकनीकी विष्वविद्यालयों के कुलपतियों एवं उनके प्रतिनिधियों के समक्ष हुआ । 

नेषनल इन्स्टीट्यूट आफ टेक्निकल टीचर्स ट्रेंनिग एण्ड रिसर्च (एनआईटीटीटीआर) चण्डीगढ के निदेषक प्रो. एम.पी.पूनिया ने बताया कि तकनीकी षिक्षा की गुणवता में सुधार और मौजूदा तकनीकी क्षमता को बढाने के लिये भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से एक प्रस्ताव रिपोर्ट तैयार की गई जिसके तहत दूर स्थित शैक्षणिक रूप से पिछडे क्षेत्रों में षिक्षार्थीयों को गुणवता ओर प्रांसगिक षिक्षा का आॅनलाईन उपकरणों एनआईटीटीटीआर चण्डीगढ़ के निदेषक प्रो. पूनिया ने बताया कि एनआईटीटीटीआर कम से कम लागत के आॅनलाईन प्रसार ससाधन डिजाइन करेगें, ताकि तकनीकी षिक्षा का लाभ दूरदराज की षिक्षण संस्थाओं को मिल सके ।
 

Share this news

Post your comment