Monday, 23 October 2017

इशारों में समझ ली बीकानेर संस्कृति

इशारों इशारों में बीकानेर संस्कृति और वैभव पर चर्चा करते अमेरिका के एडम और जेम

बीकानेर। अमेरिका के दो मूक बधिर युवा संस्कृति का जानने के लिए इन दिनों निकले है। गुरूवार को बीकानेर पहुचे न्यूयार्क के एडम और वाशिंगटन के जेम ने इशारों इशारों में ही बीकानेर की संस्कृति को जाना। इन्हें जो पसंद आया उसकी सराहना भी इन दोनों ने आपस में इशारों में ही की। करीब एक सप्ताह भारत पहुचे इन लोगों का कहना है कि भारतीय संस्कृति में अपनत्व है। यहां के लोग आकर्षित करते है। अब तक सुना था लेकिन अब महसूस भी कर रहे हैं। हमारी कोंिशश यह रहेगी कि अब हर वर्ष भारत आए। बीकानेर पहुचने के बाद उन्होंने करणीमाता के धाम देशनोक में दर्शन किए। देशनोक मंदिर में एक साथ चूहे देखकर रोमांचित होते हुए एडम ने जेम से इशारों में कहा, वाह। दिस लोकेशन इज वैरी इक्साइटेट। इसके बाद शुक्रवार को इन लोगों ने लालगढ़ पैलेस, जूनागढ़ फोर्ट, जैन मंदिर का पुरा वैभव भी देखा। शनिवार को ये दोनों जैसलमेर रवाना हो जाएगें। वहां से उदयपुर, मुम्बाई होते हुए अपने देश अमेरिका लौटेंगे। बीकानेर आने से पहले ये पुष्कर और दिल्ली भी घूम चुके है।

 

Adam   Jem