Monday, 23 October 2017

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए आई.टी.डी.सी. ने कमर कसी

जयपुर भारतीय पर्यटन विकास निगम (आई.टी.डी.सी.) ने कॉमन वेल्थ गेम्स में आने वाले अतिथियों की भारतीय परम्परा के अनुसार आवभगत करने विशेष कर आतिथ्य सत्कार, आवासीय सुविधाएं आदि के लिए कमर कस ली है और एक टीम के रूप में एक जुटता से सभी कार्यों को निर्धारित समय में पूरा करने पर सबसे अधिक ध्यान केन्द्रित करने के साथ ही सेवाओं को बेहतर बनाने को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का निश्चय किया है। भारतीय पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक डॉ. ललित के. पंवार ने अपने नये पद का कार्यभार सम्भालने के बाद बताया कि हम सर्वप्रथम दिल्ली में आई.टी.डी.सी. के होटल अशोक, सम्राट एवं जनपथ में कमरों का नवीनीकरण और अन्य सुविधाओं को क्रमोन्नत करने के लिए किए जा रहे कार्यों की गति बढाने पर जोर दे रहे हैं । उन्होंने कार्यभार सम्हालने के अपने पहले तीन दिनों में ही इन सभी हॉटल्स के साथ ही दिल्ली में बसंत कुंज में कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए तैयार किए जा रहे ढाई हजार आवासीय फ्लेट्स का डी.डी.ए., आई.टी.डी.सी. जयपुर की होटल अशोक और भरतपुर में आई.टी.डी.सी. होटल्सःउन्होंने बताया कि आगामी कॉमनवेल्थ गेम्स और दिल्ली जयपुर-आगरा गोल्डन ट्राएंगल की लोकप्रियता को देखते हुए दिल्ली सहित आई.टी.डी.सी की अन्य सभी हॉटल्स में सुख सुविधाओं का विस्तार करने, विशेष कर सेवाओं को और अधिक बेहतर बनाने पर सबसे अधिक ध्यान दिया जायेगा। अगले चरण में भारतीय पर्यटन विकास निगम की जयपुर स्थित होटल अशोक और भरतपुर स्थित होटल का नवीनीकरण और सुदृढीकरण करवा उनकी सेवाओं को बेहतर बनाया जायेगा, ताकि पर्यटन के लिए आने वाले अतिथियों को और अधिक बेहतर सुख सुविधाएं मिल सके।डॉ. पंवार ने बताया कि दिल्ली-जयपुर-आगरा पर्यटन का त्रिकोण पर्यटकों विशेष कर विदेशी पर्यटकों की पहली पसंद रहा है। इस दृष्टि से पर्यटकों को बेहतर सुख सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स के पश्चात् दिल्ली के साथ ही निकटवर्ती राज्यों में स्थित आई.टी.डी.सी. के हॉटल्स को क्रमोन्नत करने पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा। पंवार ने बताया कि राजस्थान के परिपेक्ष्य में ‘‘पधारो म्हारे देस’’  (राजस्थान) का जो स्लोगन प्रचारित करवाया गया था उसे अब सम्पूर्ण भारत के परिपेक्ष्य में ’’पधारो म्हारे देश’’ (भारत) के रूप में क्रियान्वित करवा आई.टी.डी.सी. को हॉस्पीटिलिटी उद्योग का आदर्श केंद्र बनाने का प्रयास करेंगे।
---