Tuesday, 24 October 2017

जिला परिषद की साधारण सभा मे बिजली पानी शिक्षा के मुदे छाये

बीकानेर, जिला प्रमुख रामेश्वर डूडी ने कहा है कि अधिकारी व कर्मचारी पेयजल, विद्युत आदि जन समस्याओं का निराकरण निश्चित अवधि में कर लोगों को राहत पहुंचाएं। पानी, बिजली, शिक्षा, चिकित्सा आदि मूलभूत सुविधाओं में कोताही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।  जिला प्रमुख सोमवार को जिला परिषद की साधारण सभा की अध्यक्षता कर रहे थे। जिला परिषद के सभा भवन में हुई बैठक में श्रीडूंगरगढ के विधायक मंगलाराम गोदारा, खाजूवाला विधायक डॉ. विश्वनाथ मेघवाल व नोखा विधायक कन्हैयालाल झंवर, उप जिला प्रमुख नारूराम मेघवाल, कोलायत की प्रधान राम प्यारी बिश्नोई, नोखा की प्रधान श्रीमती शारदा देवी, लूणकरनसर के प्रधान श्योदान राम, श्रीडूंगरगढ के प्रधान मांगू राम सहू, खाजूवाला प्रधान निर्मला तथा बीकानेर पंचायत समिति प्रधान भोमराज आर्य, विभिन्न विभागों के अधिकारी, जिला परिषद सदस्य मौजूद थे।जिला प्रमुख ने कहा कि जिन क्षेत्राों में ट्यूब वैल, जल हौज या डिग्गियां बनी हुई है उनमें विद्युत कनेक्शन नहीं है उनको  बिजली से जोडा जाए।जिला कलक्टर श्रेया गुहा ने कहा कि जिले में पेयजल की समस्या नहीं है। जिस ग्राम पंचायतों में पेयजल की कमी है वे अपने प्रस्ताव बनाकर उप खंड अधिकारी के माध्यम से भिजवावें। उन्होंने बताया कि सीमा क्षेत्रा विकास योजना के तहत डिग्गियों, जल हौज आदि की सफाई का अभियान चलाया जाएगा। बैठक में खाजूवाला विधायक डॉ. विश्वनाथ मेधवाल ने इंदिरा गांधी नहर की पूगल ब्रांच की १७९ फाल व मुख्य नहर की आर.डी.६८२ के पास शुद्ध जल संग्रहण केन्द्र स्थापित करने का प्रस्ताव रखा। श्रीडूंगरगढ विधायक मंगलाराम गोदरा ने विधान सभा क्षेत्रा के डूंगरगढ व नोखा तहसील के कुछ गांवों में टयूबवैल के बंद होने व पानी के नीचे जाने का मामला रखा। जिला प्रमुख ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिाकी विभाग के  अधिकारियों को निर्धारित समय में समस्या का निराकरण कर ग्रामीणों को राहत दिलाने के निर्देश दिए। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बलवंत सिंह बिश्नोई ने बैठक की रिपोर्ट प्रस्तुत की।