Friday, 30 July 2021

KhabarExpress.com : Local To Global News

नगर की प्रमुख समस्याओं का निपटारा ही मेरी प्राथमिकता है - जिला कलेक्टर आलोक गुप्ता


छोटी उम्र में बडे जिले के सर्वोच्च अधिकारी है। छत्तीस वर्षीय आलोक इस समय बीकानेर के कलेक्टर हैं। विज्ञान और प्रौद्योगिकी संकाय के विधार्थी होने के बाद भी प्रेमचन्द्र जैनेन्द्र आदि के यथार्त वादी साहित्य के पाठक हैं। १९९६ बैच के इस युवा प्रशासनिक अधिकारी के दो ही शौक है। बागवानी और अध्ययन। जिला अलवर में पले-बढे इस युवा प्रशासनिक अधिकारी की जबान पर खराब पोस्टिंग शब्द शायद ही कभी आता हो। क्योंकि संतोष को जीवन का मूल मंत्र बनाकर अपनी तरह से काम करने में विश्वास रखने वाले आलोक अब तक एस. डी. एम. (पाली) पी.डी. (डी. आर. डी. ए) बांसवाडा उपसचिव, कार्मिक विभाग, जिला कलेक्टर डूंगरपूर, उपसचिव, योजना विभाग, सचिव, राजस्थान लोकसेवा आयोग, जिला कलेक्टर नागौर के बाद इन दिनों बीकानेर के जिला कलेक्टर है।
एम.टेक पास कर चुके आलोक जिले में बनी ५५ कमेटियों में से प्रतिदिन ३० से ४० तक की मिटिंग लेते है। वे बहुत ही स्नेहिल, संवेदनशील और रचनात्मक वृति सम्पन्न अंतर्मुखी व्यक्तित्व के धनी है। गर्व को अपनी पगधूलि में उछालकर रचनात्मक कार्यो को प्राथमिकता में रहता है। इसीलिए वे अब तक जहाँ रहे है वहाँ अपनी सकारात्मक कार्यप्रणाली की छाप छोडकर आए है। 
लाखों करोडो बेरोजगारों की आशाओं के गढ से आर.पी.एस.सी से भी वे मिस्टर क्लीन की छवि लेकर लौटे हैं।
खबरएक्सप्रेस डॉट कॉम के संपादक ने उनसे पिछले दिनों नगर से जुडे विभिन्न मुद्दों पर एक लम्बी बातचीत की उनक करीब ९ माह के बीकानेर कार्यकाल में उनके द्वारा किसी भी मीडिया को दिया यह उनका पहला साक्षात्कार है- पेश है बातचीत के संपादीत अंश -

1.  बीकानेर के नगर चरित्र को आप किस रूप में देखते हैं ?
उतर. यहाँ के लोग संतोषी है। नगर चरित्र उत्सवधर्मी है। अधिक महत्वाकांक्षाएं नहीं है। भोले-भाले, सरल एवं सहज हैं।

2. आपकी नजर में नगर की प्रमुख समस्याएं कौन सी हैं? उनके निदान के लिए आप क्या कर रहे है ?
उतर. देखिए, मेरी नजर मे नगर बीकानेर के लिए सूरसागर समस्या का शीघ्र निस्तारण आवश्यक है। आर. यू. डी. आई. पी के जरिये इसके निस्तारण के प्रयास हो रहे है। कुछ काम समयावधि की शर्त के चलते पूरा नहीं हो पा रहे यो हमने सिंगल टेन्डर करवाए हैं। हमारी कोशिश होगी ये सब १ अप्रेल से पहले हो जाए। वर्क आउट में एक साल लगेगा। हम बराबर आर.यू.डी.आई.पी पर दबाव बना रह हैं। ताकि शहर को जल्द से जल्द इस समस्या से निदान मिले । दूसरे रवीन्द्र रंग मंच की जो समस्या हैं। उसके लिए भी बराबर प्रयास कर रहे हैं। यू.आई.टी से ५० लाख रूपये देने को तैयार है। बस रूडकी टीम की रिर्पोट आ जाय। इस बार मैने रूडकी इंजीनियर को स्पष्ट लिखकर कहा है कि ये अनसेफ की रिर्पोट मुझे नहीं चाहिए। मुझे तो आप यह बताये कि तकनिकी रूप से कहाँ क्या मिसटेक है और उसको निराकरण का उपाय क्या हैं? ताकि आगे का एक्सन प्लान उन्हें ध्यान मे रखकर बनाया जा सके। अब रिपोर्ट पर निर्भर है।मुझे आशा है कि इस बार इसका कोई न कोई निकल ही जाएगा।

3. पर्यटन को लेकर आफ पास क्या योजनाएँ हैं?
उतर. कोई दीर्धकालिन योजना नहीं है। अन्तर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त ऊँट उत्सव की प्रोमोटिंग के प्रयास अभी से करने होंगे। उसके लिए भी मैने सचिव पर्यटन को लिखा है। पोस्टर पहले बनाने की योजना है ताकि दूर ऑपरेटर्स के जरिये आसानी से इसका प्रचार प्रसार उचित समय पर हो सके।
शुटिंग डिविजन को भी प्रमोट कर रहे हैं ताकि राष्ट्रस्तर पर नगर का नाम आए शहर हाईलाईट हो। हवाई अड्डे की कमी हे। उसके लिए एयरफोर्स वाले तो तैयार है। पर कमर्शियल फलाईट वाले तैयार नही है।

4. आप युवा, ऊर्जावान प्रशासनिक अधिकारी हैं। नगर बीकानेर को आपकी युवाऊर्जा से काफी उम्मीदें भी हैं। आप बताना चाहेंगे कि पिछले आठ माह में आपकी उपलब्धियां क्या रहीं ?
उतर. इतने कम समय में विशेष तो में सुधार कर नहीं पाया हूँ। पर सूरसागर, रविन्द्र रंगमंच आदि के कार्यो में गति लाने के लिए प्रयास रत हूं।

5. नगर की यातायात व्यवस्था में सुधार को लेकर कोई दृढ संकल्प प्रसाशन में नजर नहीं आ रहा है ?
उतर. मैं बहुत जल्द ही एस.पी. से बात कर इसके निराकरण हेतु अपनी तरफ से हर संभव प्रयास करूंगा।

6. बारिश के दिनों में प्रशासन बेखबर रहा जबकि वह बेहतर जानना है कि बहुत से इलाकों में स्थितियां काफी गंभीर थी। नगर परिषद के सभापति का भी ये ही आरोप है। आप क्या कहना चाहेंगे?
उतर. हम अपनी तरफ से हर संभव प्रयास किये है। सभापति जनप्रतिनिधि हैं। मैं बाहर जरूर था पर उससे राहत कार्य प्रभावित नहीं हुआ। बारिशों में ढहे क्षतिग्रस्त हुए मकान मालिकों कों नियमानुसार राह राशि की स्वीकृति जारी हो चुकी है।

7. आप दिनभर में सैकडों लोगो से मिलते हैं। फरयादियों, नेताओं, अधिकारीयों एवं मीडिया के दबाव को किस तरह लेते हैं?
उतर. हर व्यक्ति समस्या लेकर आता है। समाधान के लिए तो बहुत सी परिस्थितियों का होना जरूरी है। इसलिए सुनता सबकी हूं । संवेदनशीलता का अहसास अनिवार्य है।

8. न्यास अधिक होने के नाते नगर विकास का जिम्मा भी आपका है?  जानकार लोगों का कहना है कि रसूखहारों के पास सरकार की जमिन कब्जे में है। उसके लिए आप क्या कर रहे हैं?
उतर. नोखा रोड पर अधिकृत जमीन को भू-माफिक से मुक्त करवाया गया है। अन्य स्थानों  पर भी कार्यवाही की जा रही है। जल्द ही परिणाम सामने आएंगें। 

9. शहर का कोटगेट एवं अंदरूनी शहर क्षेत्र विश्व के सर्वाधिक प्रदुषण इलाकों में शुमार है। इसके लिए आप क्या कर रहे है।
उतर. ट्रेफिक समस्या के समाधान के लिए आहूत बैठक में इसको निराकरण संबंधी प्रयास भी करेंगे।

10. बीकानेर वुड फॉसिल्स संग्रह संस्थान के लिए बन रहे हॉल भी दुरावस्था पर आप क्या कहना चाहेंगे?
उतर. मुझे इसके बारे में  पूर्व जानकारी नहीं है। शीघ्र ही मैं स्वंय निजी तौर पर इसके लिए प्रयास कर परिणाम देने की पूरी पूरी कोशिश करूंगा।

11. पारदर्शी व्यवस्था के निमित्त बने सूचना  के अधिकार की पालना में अब तक कितने लोगों को राहत मिली है?
उतर. ए.डी. (प्रशासन) को सूचना अधिकारी बनाया हुआ है। सीमित संख्या में ही प्रार्थना-पत्र आये हैं। मैंने तुरन्त कार्यवाही के आदेश दे रखे हैं।