Monday, 12 April 2021

KhabarExpress.com : Local To Global News
  3846 view   Add Comment

ओझा-छंगाणि जाति में हुआ सतरंगी डोलची खेल

कृष्ण की माखनचोर लीला का हुआ मंचन

बीकानेर, दशकों पुरानी परम्परा के क्रम में बुधवार को बारह गुवाड चौक प्रागंण में पुष्करणा समाज की ओझा-छंगाणी जाति के पुरूषों के बीच पानी खेल डोलची का आयोजन हुआ। लोहे के बडे -बडे सात कडाहों में भरे सात रंगो के केवडा-गुलाब जल मिश्रित पानी से संगीत मय सतंरगी डोलची खेल खेला गया। सामज सेवी सुन्दर महाराज ओझा व मेघसा छंगाणि ने खेल का शुभारभ्भ किया। संगीत मय सतरंगी डोलची खेल के दौरान आपसी प्रेम एवं होली की मस्ती में डूबे बच्चों से बूढो तक ने एक-दूसरे की पीठ पर प्रेम भरी पानी की मार मारी। पानी खेल डोलची को देखने के लिए घरो की छतों पर बडी संख्या में महिलाऐ उपस्थित थी। डोलची खेल के दौरान खिलाडियों ने संगीत की मध्ुार स्वर लहरियों के बीच एक-दूसरे की पीठ पर पानी की बौछार की। ओझा छंगाणि जाति के बीच डोलची खेल में पुष्करणा समाज की विभिन्न जातियों के पुरूषों ने भी भाग लेकर आपसी प्रेम एवं सामाजिक एकता का संदेश दिया। आयोजन समिति के मदन मोहन छंगाणि के अनुसार सतंरगी डोलची खेलारों के तेल चित्रों का पूजन कर उनका स्मरण किया गया। वरिष्ठ डोलची खेलार सुन्दर महाराज ओझा के अनुसार स्वर्गवासी गुलगी सुन्दर ओझा की स्मृति में हो रहा डोलची खेल के दौरान किशन लाल ओझा, सीतराम छंगाणि, पार्षद दुर्गादास छंगाणि, अशोक छंगाणि, महावीर ओझा, जेठमल ओझा, सांवर लाल ओझा विष्णु छंगाणि, किशन कुमार, आन्नद ओझा, सत्यनारायण  छंगाणि, चन्द्रशेखर आदी ने व्यवस्थाओं का सचांलन किया। पूजन कार्य पडिंत छोटू लाल ओझा, नमामी शंकर ओझा ने सम्पन्न करवाया। डोलची खेल से पूर्व भगवान कृष्ण की माखन चोर लीला प्रदर्शित की गई।

Tag

Share this news

Post your comment