Monday, 30 November 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  10590 view   Add Comment

रंगीला स्मृति शतरंज प्रतियोगिताः पहले दिन 7 शातिर रहे संयुक्त बढ़त पर

रंगीला स्मृति तेरहवीं जिला स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के पहले दिन सबजूनियर तथा जूनियर वर्ग में दो-दो तथा सीनियर वर्ग में 3 शातिर संयुक्त बढ़त पर रहे।

रंगीला स्मृति शतरंज प्रतियोगिताः पहले दिन 7 शातिर रहे संयुक्त बढ़त पर

बीकानेर, 25 दिसम्बर। रंगीला स्मृति तेरहवीं जिला स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के पहले दिन सबजूनियर तथा जूनियर वर्ग में दो-दो तथा सीनियर वर्ग में 3 शातिर संयुक्त बढ़त पर रहे।
 प्रतियोगिता संयोजक एडवोकेट जुगल किशोर व्यास ने बताया कि नत्थूसर गेट के बाहर स्थित नालंदा सीनियर सैकण्डरी स्कूल में खेली जा रही प्रतियोगिता के सब जूनियर वर्ग में केशव रंगा और आदित्य जैन 4-4 अंकों के साथ संयुक्त बढ़त पर रहे। राघव आचार्य, आदित्य शर्मा और हर्षवर्धन स्वामी ने 3.5-3.5 अंक हासिल किए। जूनियर वर्ग में राहुल व्यास और आदित्य पुरोहित ने 4-4 अंक के साथ संयुक्त बढ़त बनाई तथा मधुसूदन व्यास, कार्तिक नारायण और सुरेश पुरोहित को 3-3 प्राप्त हुए। वहीं सीनियर वर्ग में बजरंग प्रजापत, शेर सिंह तथा कपिल पंवार ने अपने दोनों मैच जीतकर दो-दो अंक हासिल किए तथा पहले दिन के खेल की समाप्ति तक संयुक्त बढ़त बनाए रखी। 
 इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जर्नादन कल्ला तथा राजस्थान शतरंज संघ के एस. एल. हर्ष ने मोहरे चलाकर प्रतियोगिता की शुरूआत की। इस अवसर पर कल्ला ने कहा कि संस्था द्वारा प्रतिवर्ष शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसके माध्यम से नए शातिरों को अच्छे अवसर मिलते हैं। ऐसे आयोजन स्वर्गीय रंगीला को सच्ची श्रद्धांजलि है। उन्होंने कहा कि इन छोटी-छोटी प्रतियोगिताओं से निकले खिलाड़ी एक दिन देश का नाम रोशन करेंगे।
 एस. एल. हर्ष ने कहा कि लगातार तेरह वर्षों तक इस स्पर्धा का आयोजन किया जा रहा है। यह अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि नए खिलाड़ी इसे अवसर के रूप में लें तथा वरिष्ठ एवं अनुभवी खिलाड़ियों से खेल के गुर सीखें। प्रतियोगिता संयोजक व्यास ने रंगीला के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला तथा प्रतियोगिता के नियमों की जानकारी दी। संस्था अध्यक्ष एडवोकेट बसंत आचार्य ने आभार जताया। उन्होंने संस्था द्वारा अब तक की गई गतिविधियों के बारे में बताया। कार्यक्रम का संचालन हरि शंकर आचार्य ने किया।
 इस अवसर पर साढे चार साल के विश्वेन्द्र रंगा, छह साल की कृति व्यास से लेकर 67 वर्षीय रामकिसन चैधरी सहित लगभग 110 शातिरों ने मोहरे चलाए। मुख्य आर्बिटर रामकुमार ने बताया कि बुधवार को भी विभिन्न वर्गों खेले जाएंगे। संरक्षक दुर्गाशंकर आचार्य ने बताया कि प्रतियोगिता के विजेताओं को 3 जनवरी को रंगीला की पुण्यतिथि के अवसर पर सम्मानित किया जाएगा। इस दौरान आर्बिटर डी. पी. छीपा, एस. एन. करनाणी, राजेश रंगा, एडवोकेट भैरूरतन व्यास, गिरिराज व्यास, हिम्मत पुरोहित, शैलेन्द्र रंगा, रोहित व्यास, विनीत व्यास सहित अनेक लोग मौजूद रहे। 

Tag

Share this news

Post your comment